पतंजलि की ‘कोरोनिल’ दवा को मिली आयुष मंत्रालय की मंजूरी, जल्द ही होगी उपलब्ध

112
कोरोना वायरस के इलाज के लिए पतंजलि आयुर्वेद लिमिटेड ने कोरोनिल दवा विकसित की है. जिसको वायरस के इलाज में काफी कारगर माना जा रहा है. वही, हाल ही में भारत सरकार के आयुष मंत्रालय ने कोरोना वायरस की दवा खोज लेने के दावों को लेकर मीडिया में छपी रिपोर्टों पर संज्ञान लिया है और साफ़ तौर पर कहा है कि कथित वैज्ञानिक अध्ययन के दावों की सच्चाई और विवरण के बारे में मंत्रालय को कोई जानकारी नहीं है.

Image Copyright to respective owners LiveMint

आयुष मंत्रालय के बयान के बाद पतंजलि के चेयरमैन आचार्य बालकृष्ण ने इसे ‘कम्युनिकेशन गैप’ बताते हुए यह दावा किया है कि ‘उनकी कंपनी ने आयुष मंत्रालय को सारी जानकारी उपलब्ध कराई है. दवा को लेकर बालकृष्ण ने अपने ट्वीट में लिखा है कि “यह सरकार आयुर्वेद को प्रोत्साहन व गौरव देने वाली है. क्लीनिकल ट्रायल के जितने भी तय मानक हैं, उन 100 प्रतिशत पूरा किया गया है.

लेकिन इन सभी वाद विवाद के बीच पतंजलि आयुर्वेद लिमिटेड के लिए खुशखुबरी है. पतंजलि की कोरोनिल दवा को आयुष मंत्रालय की और से हरी झंडी मिल गई है. उम्मीद की जा रही है, कि दवा के बाजार में ब्रिकी के लिए आने के बाद वायरस के इलाज में डॉक्टर्स को पहले से अधिक सफलता प्राप्त होगी.