26 मिनट तक करते रहे इंतजार, मौका मिला तो 45 सेकेंड में 12 साल के बच्चे ने उड़ा लिए 20 लाख रुपए

128

हुडा काॅम्प्लेक्स स्थित पंजाब नेशनल बैंक की मुख्य ब्रांच में 20 लाख रुपए चोरी करने वाला बच्चा व उसका साथी युवक 26 मिनट तक मौका मिलने का इंतजार करते रहे। जैसे ही कैशियर बाथरूम जाने के लिए रूम से बाहर निकला, उसी दौरान बच्चा कैबिन में घुस गया और 45 सेकेंड के भीतर ही 5-5 लाख रुपए की चार गड्डी अपने कैरी बैग में डालकर मौके से फरार हो गया। इस दौरान उसका साथी युवक कैबिन के बाहर ही खड़ा रहा ताकि आसपास नजर रख सके।

जैसे ही बच्चा कैबिन से राशि लेकर निकला तो दोनों मौके से फरार हो गए। 20 लाख रुपए चोरी होने का किसी को भी पता नहीं चला, जबकि कैशियर के कैबिन के साथ ही मैनेजर भी अपनी सीट पर बैठे हुए थे और लोगों को डील कर रहे थे। 20 लाख रुपए चोरी करते हुए पहले युवक बैंक से तेजी से निकला और उसके पीछे-पीछे बच्चा हाथ में कैरी बैग लेकर तेजी से बैंक की तरफ निकल गया। दोनों ही पैदल ही सड़क की तरफ जाते हैं और एक आल्टो गाड़ी में जाकर बैठ जाते हैं। इस कार को एक व्यक्ति चला रहा है और दूसरा कार में बैठा है। ऐसे में पुलिस को भी शक है कि इस घटना को किसी बड़े गिरोह ने अंजाम दिया है। बहरहाल मामले की जांच चल रही है। अब पुलिस दूसरे सीसीटीवी कैमरा से कार के नंबर पता करने का प्रयास कर रही है।

बच्चा और युवक बैंक में सोमवार दोपहर 12 बजकर 20 मिनट पर घुसे थे। उसके बाद से ही वह बैंक के अंदर इधर-इधर घूमते रहे। पहले बैंक के मुख्य गेट के पास पड़ी कुर्सियों पर बैठे और कैश कैबिन पर नजर रखी। उसके बाद युवक सामने बने काउंटरों पर आता है और यह दिखाने की कोशिश करता है कि वह कोई काम से आया है। इसके बाद युवक सामने पड़ी अन्य कुर्सियों पर जाकर बैठ जाता है। कुछ देर बाद बच्चा भी वहीं आ जाता है और दोनों कुछ देर तक बातचीत करते हैं। इसके बाद युवक फिर इधर-उधर हो जाता है और बच्चा कुर्सी पर बैठकर कैशियर का काउंटर खाली होने का इंतजार करता रहता है। जैसे ही कैशियर बाथरूम जाने के बाहर निकलता है तो दोपहर 12 बजकर 46 मिनट पर बच्चा अंदर काउंटर में घुस जाता है और लगभग 45 सेकेंड में ही अंदर से 5-5 लाख रुपए की चार गड्डी निकालकर ले जाता है। इसका पता तब चलता है जब चार बजे कैशियर अपने आए कैश को गिनता है और उसमें 20 लाख रुपए कम मिलते हैं।

पुलिस ने बैंक में कर्मचारियों के लिए बयान

मंगलवार को सिविल लाइन पुलिस एक बार फिर बैंक पहुंची। आईओ वीरेंद्र सिंह अपनी टीम के साथ बैंक आए। उन्होंने सीसीटीवी फुटेज को बारीकी से खंगाला। इसके अलावा बैंक प्रबंधन से सीसीटीवी फुटेज भी ली। उसके बाद बैंक के मैनेजर, कैशियर सहित अन्य कर्मचारियों से भी पूछताछ कर उनके बयान लिए गए।

दो टीमें करेंगी मामले की जांच

पीएनबी में चोरी के मामले की जांच अब सिविल लाइन पुलिस के अलावा सीआईए भी करेगा। बच्चे व युवक की तलाश को लेकर पुलिस ने कई जगहों पर छापेमारी भी की, लेकिन कोई सुराग फिलहाल पुलिस के हाथ नहीं लग सका है।

कुरुक्षेत्र से पहुंची टीम

मामले के बाद इसकी सूचना सर्कल आफिस कुरुक्षेत्र को दी गई। वहां से सिक्योरिटी मैनेजर व उनकी टीम जांच के लिए पहुंची। सर्कल टीम द्वारा विभागीय स्तर पर अपनी जांच शुरू कर दी है। अब मुख्यालय से भी जल्द ही जांच टीम आएगी।

जल्द आरोपियों को पकड़ लिया जाएगा

इस मामले में सिविल लाइन व सीआईए जांच कर रही है। सीसीटीवी को खंगाला जा रहा है। जल्द आरोपियों को पकड़ लिया जाएगा। दो के खिलाफ मामला दर्ज किया गया है। हरिओम, सिविल लाइन प्रभारी, जींद।