हरियाणा के नशा प्रभावित 10 जिलों में सोनीपत, तस्करों का फैला नेटवर्क

236

सर्वे के अनुसार देश के 272 जिले नशा प्रभावित हैं, जिनमें हरियाणा के दस जिलों को शामिल किया गया है। इन दस जिलों में सोनीपत भी सम्मिलित है। राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र के अंतर्गत आने वाले सोनीपत जिला को नशा मुक्त बनाने के दृढ़ संकल्प के साथ उपायुक्त श्याम लाल पूनिया ने नशा मुक्त भारत अभियान का आगाज किया। उन्होंने कहा कि हर प्रकार के नशे से देश को बचाने के लिए एकजुट प्रयास जरूरी है।

सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता मंत्रालय के तत्वावधान में नशा मुक्त भारत अभियान का शुभारंभ किया गया है, जिसे 31 मार्च, 2021 तक जारी रखा जाएगा। लघु सचिवालय में अभियान की शुरुआत करते हुए उपायुक्त पूनिया ने कहा कि नशा मुक्ति अभियान की सफलता के लिए शुरुआत हमें और आपको स्वयं से ही करनी होगी। हम खुद सही होंगे तो समाज खुद-ब-खुद सुधर जाएगा। नशा मुक्ति के लिए प्रयास गैर सरकारी स्वयं सेवी संगठनों तथा समाजसेवियों और संबंधित विभागीय अधिकारियों को एकजुट होकर ईमानदारी से प्रयास करने होंगे। ऐसा करने पर निश्चित रूप से सकारात्मक परिणाम हासिल होंगे।

टास्क फोर्स करें कार्रवाई

उपायुक्त ने कहा कि नशा व नशाखोरों पर शिकंजा कसने के लिए जिला स्तर पर टास्क फोर्स समिति का गठन किया जा रहा है। समिति को नियमित रूप से सभी नशा मुक्ति केंद्रों का औचक निरीक्षण करना होगा। यदि किसी केंद्र में सरकार के निर्देशों की अवहेलना पाई जाए तो उस केंद्र को बंद करवायें अथवा पैनल्टी लगाई जाए। जागरूकता के लिए नेहरू युवा केंद्र व जिला रैडक्रॉस सोसायटी के सहयोग से वोल्यूंटियर्स को प्रशिक्षण दिया जाएगा।

अधिकारियों ने दिए सुझाव

इस दौरान होमगार्ड के जिला कमांडेंट विजेंद्र कुमार व जवान राजेश कुमार तथा समाजसेवी रण सिंह ने भी नशा मुक्ति अभियान की सफलता के लिए प्रभावी कदम उठाये जाने पर बल दिया। जिला समाज कल्याण अधिकारी अश्विनी फोगाट ने इस दौरान नशा मुक्त भारत अभियान की विस्तार से जानकारी देते हुए भविष्य की योजनाओं से अवगत करवाया। बैठक में खंड विकास एवं पंचायत अधिकारी पूनम चंदा, महिला एवं बाल विकास विभाग की जिला कार्यक्रम अधिकारी प्रवीण कुमारी, उदय सिंह आदि अधिकारी एवं कर्मचारी मौजूद थे।