यूपी के गन्ना मंत्री सुरेश राणा को चुनाव आयोग ने झटका दिया, पुनर्मतदान की अर्जी खारिज

197

UP 2nd phase Polling 2022 : उत्तर प्रदेश में दूसरे चरण का चुनाव 14 फरवरी को होगा

शामली: 

यूपी के गन्ना मंत्री सुरेश राणा (UP sugarcane minister Suresh Rana) को चुनाव आयोग ने झटका दिया है. सुरेश राणा ने अपनी विधानसभा (थानाभवन) के 40 बूथों पर दोबारा मतदान की मांग की थी.  चुनाव आयोग (Election Commission)  ने इस मांग को ख़ारिज कर दिया है. जिला निर्वाचन अधिकारी शामली जसजीत कौर का कहना है कि कैबिनेट मंत्री सुरेश राणा जो थानाभवन विधानसभा से बीजेपी प्रत्याशी हैं, उन्होंने निर्वाचन अधिकारी के समक्ष एक प्रार्थनापत्र दिया था, जिसमें 10 फरवरी 2022 को संपन्न हुए विधानसभा सामान्य निर्वाचन में 40 बूथों पर दोबारा मतदान की मांग की गई थी. हालांकि यह अवगत कराया जाता है कि पूरे जनपद में शांतिपूर्ण और निष्पक्ष ढंग से नियमानुसार संपन्न हुआ है. पूरी मतदान प्रक्रिया को सही पाया गया था. पुनर्मतदान की कोई गुंजाइश नहीं है और न ही आवश्यकता. यूपी में दूसरे चरण का विधानसभा चुनाव 14 फरवरी को होगा.

उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव (UP Assembly Polls 2022 ) के दूसरे चरण के मतदान के लिए राज्य की 55 सीटों के अलावा गोवा और उत्तराखंड की सभी विधानसभा सीटों पर सोमवार को वोट डाले जाएंगे. यूपी में दूसरे चरण में राज्य के नौ जिलों- सहारनपुर, बिजनौर, मुरादाबाद, सम्भल, रामपुर, अमरोहा, बदायूं, बरेली तथा शाहजहांपुर की 55 विधानसभा सीटों के लिए सोमवार को मतदान होगा.

 

यूपी के 11 जिलों के 58 विधानसभा क्षेत्रों में गुरुवार को हुए पहले चरण के मतदान में 60 प्रतिशत से अधिक मतदान हुआ. COVID-19 प्रोटोकॉल के कारण एक घंटे के विस्तार के बाद शाम 6 बजे मतदान बंद हुआचुनाव आयोग की रिपोर्ट में कहा गया है कि आगरा में 60.33 फीसदी, अलीगढ़ में 60.49 फीसदी, बागपत में 61.35 फीसदी, बुलंदशहर में 60.52 फीसदी, गौतम बौद्ध नगर में 56.73 फीसदी, गाजियाबाद में 54.77 फीसदी, हापुड़ में 60.50 फीसदी, मथुरा में 63.28 फीसदी, मेरठ में 60.91 फीसदी, मुजफ्फरनगर में 65.34 प्रतिशत और शामली 69.42 प्रतिशत मतदान हुआ. रिपोर्ट के मुताबिक 2017 के विधानसभा चुनाव के दौरान इन निर्वाचन क्षेत्रों में 63.47 प्रतिशत मतदान दर्ज किया गया थ