मेयर की टिकट पर उलझे भाजपा के बड़े नेता, पार्षदों की लिस्ट भी अटकी

238

सोनीपत और पंचकूला नगर निगम के लिए मेयर और पार्षदाें की लिस्ट को भाजपा ने शनिवार देर शाम हरी झंडी दे दी लेकिन अम्बाला में मामला फंस गया। यहां मेयर का टिकट देने के लिए पैनल में 5 नाम होने की वजह से ज्यादा घमासान है। पंचकूला व सोनीपत के मेयर पैनल में 3-3 नाम थे। मेयर प्रत्याशी के लिए किसी के नाम की सहमति न बनते देख मामला फिलहाल टाल दिया गया। वार्ड पार्षदों में ज्यादातर नामों पर सहमति बन गई है। सिर्फ दो वार्डों में टिकट का मुकाबला कड़ा है। इसलिए पार्षदों की लिस्ट भी अभी जारी नहीं की। भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष ओमप्रकाश धनखड़ ने बताया कि अम्बाला के नामों की घोषणा रविवार या सोमवार को की जाएगी। ज्यादातर नामों पर चर्चा हो चुकी है।

शनिवार को पंचकूला में भाजपा की चुनाव समिति की बैठक में दोपहर से लेकर देर रात तक मंथन चला। अम्बाला नगर निगम में मेयर को लेकर वोटरों के जातिय गणित पर भी मामला अटका है। भाजपा यहां कांग्रेस और पूर्व मंत्री विनोद शर्मा की हरियाणा जनचेतना पार्टी के मूव पर भी नजर रखे हुए है। मेयर प्रत्याशी के लिए भाजपा के कई बड़े नेता अपनों के लिए जोर लगा रहे हैं। इनमें प्रदेश प्रवक्ता डॉ. संजय शर्मा की पत्नी वंदना शर्मा, पूर्व जिलाध्यक्ष जगमोहन लाल कुमार की पत्नी प्रवीण कुमारी, जिला काेषाध्यक्ष अनुभव अग्रवाल की पत्नी वंदना अग्रवाल, मंडल अध्यक्ष अर्चना छिब्बर, पंजाबी नेता संदीप सचदेवा की पत्नी शैलजा सचदेवा के नाम शामिल हैं।

पार्टी सूत्रों के मुताबिक इन्हीं में से किसी के नाम पर मुहर लग सकती है। भाजपा पंजाबी, बनिया व ब्राह्मण वोटरों का गणित देख रही है। इस बात पर भी नजर रखी जा रही है कि क्या पूर्व मंत्री विनोद शर्मा अपनी पत्नी शक्ति रानी शर्मा को मेयर पद के लिए मैदान में उतारेंगे। शर्मा ने शनिवार को 14 वार्डों के प्रत्याशी तो घोषित किए लेकिन मेयर पर सस्पेंस बरकरार रखा है। हरियाणा जनचेतना पार्टी के सूत्रों के मुताबिकि मेयर प्रत्याशी के लिए शक्ति रानी शर्मा का नाम सुर्खियों में है। पूर्व पार्षद रूपम गुगलानी के नाम पर विचार हो रहा है। उनके पति राजन गुगलानी भी पार्षद रहे हैं।

सहयोगी जजपा के हिस्से आए 4 वार्ड, चारों रिजर्व
प्रदेश में भाजपा ने अपने गठबंधन सहयोगी जननायक जनता पार्टी को 4 सीटें देने पर सहमति जताई है। बताते हैं जजपा 11, 14, 18 व 20 नंबर वार्ड से प्रत्याशी उतारेगी। इनमें 11 और 14 नंबर वार्ड एससी महिला के आरक्षित हैं। इस वार्ड में भाजपा की ओर से सुशीला सहोता का इकलौता आवेदन था। जजपा से ममता का नाम था। 18 नंबर वार्ड पिछड़े वर्ग के लिए तो 20 नंबर वार्ड महिला के आरक्षित है। 2019 विधानसभा चुनाव में जजपा को सिटी हलके से पौने छह हजार वोट मिले थे।

कांग्रेस में नाम तय, सैलजा की कोठी पर आज होगा औपचारिक ऐलान
कांग्रेस ने शनिवार को पार्षदों की लिस्ट जारी नहीं की। हालांकि नाम फाइनल हो गए हैं। प्रदेशाध्यक्ष कुमारी सैलजा ने प्रत्याशियों को फोन करके बधाई दी और तैयारियों में जुटने को कहा। सभी प्रत्याशियों को रविवार सुबह 9 बजे डूरंड रोड स्थित अपने आवास पर बुलाया। यहां औपचारिक ऐलान होगा। पार्टी सूत्रों के मुताबिक प्रत्याशी चयन के लिए बनाई गई 5 सदस्यीय कमेटी में से सबसे ज्यादा रोहित जैन की राय चली। वार्ड-3 में पूर्व विधायक जसबीर मलौर की पैरवी से मनिंद्र ढिल्लों का नाम आगे बढ़ा। ढिल्लों कुछ समय पहले तक जजपा में थे। यहां से अनिल उर्फ सोनू राणा काफी समय से तैयारी में थे। वार्ड- 7 से सुमित कुमार पूर्व पार्षद देवराज का बेटे हैं। वार्ड-10 में मिथुन वर्मा पुराने कांग्रेसी राजकुमार गामा के भतीजे हैं।

विनोद शर्मा ने 14 प्रत्याशी उतारे, मेयर पद पर सस्पेंस

2019 के विधानसभा चुनाव से दूर रहे पूर्व केंद्रीय मंत्री विनोद शर्मा अम्बाला सिटी नगर निगम चुनाव के जरिए फिर शहर की राजनीति में एंट्री कर रहे हैं। शनिवार को उन्होंने हरियाणा जनचेतना पार्टी से 14 वार्डों में प्रत्याशी घोषित कर दिए। शर्मा ने कहा कि सभी वार्डों में पार्टी के प्रत्याशी होंगे और मेयर प्रत्याशी भी होगा। हालांकि उन्हें मेयर प्रत्याशी पर अभी सस्पेंस बनाकर रखा है। बाकी नामों की घोषणा 14 दिसंबर को होगी। 2005 में शर्मा ने अम्बाला की राजनीति में एंट्री की थी। कांग्रेस के टिकट पर सिटी से 50,618 वोट लेकर जीते। हुड्डा सरकार में कैबिनेट मंत्री बने। 2009 में फिर 69,435 वोट लेकर चुनाव जीते। हुड्डा से संबंध बिगड़े तो हरियाणा जनचेतना पार्टी बना ली थी।

Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today

फाइल फोटो।

from Dainik Bhaskar https://ift.tt/2KkycHC