भिवानी के युवक की महम में सिर में ईंट मार की हत्या सीसीटीवी से खुला राज, 2 गिरफ्तार

99

भिवानी शहर के राजीव काॅलोनी निवासी 20 वर्षीय अमित पुत्र सुशील कुमार की सिटी पुलिस चौकी से मात्र 100 मीटर दूर सिर में ईंट मारकर शुक्रवार अलसबुह करीब तीन बजे हत्या कर दी गई। सुबह करीब 6 बजे घरों के बाहर लोग निकले तो एक प्लाट के गेट के सामने खून से लथपथ शव पड़ा देखकर मामले की जानकारी पुलिस को दी। सूचना मिलते की उप पुलिस अधीक्षक शमशेर सिंह व थाना प्रभारी नवीन जाखड़ मौके पर पहुंचे।

एफएसएल प्रभारी सरोज दहिया ने घटनास्थल से साक्ष्य जुटाने के बाद शव को पोस्टमार्टम के लिए पीजीआई भेज दिया। मृतक युवक की जेब में एक आधार कार्ड व बाइक की आरसी मिली। जिससे मृतक की पहचान हुई। इसकी सूचना पुलिस ने भिवानी पुलिस को भी दी। पुलिस ने मृतक के भाई राहुल के बयानों के आधार पर तीन के खिलाफ मामला दर्ज किया है।

पुलिस ने घटना स्थल पर मिली लावारिस बुलेट व आसपास के मकानों में लगे सीसीटीवी कैमरों की फुटेज को आधार बनाकर 12 घंटे के अंदर ही मामले का खुलासे करते हुए दो आरोपियों को दबोच लिया। आरोपियों की पहचान भैणी सुरजन निवासी अमित व महम के वार्ड 5 निवासी अपने अंकित के रूप में हुई।

युवती के घर आता रहा था अमित
पुलिस पूछताछ में आरोपियों ने बताया कि मृतक अमित का पड़ोस की युवती के साथ प्रेम प्रसंग चल रहा था। मृतक अमित को कई बार युवती के घर आता देख चुके थे। गुरुवार रात को भी अंकित को युवती के घर आता देखा तो उसकी हत्या करने प्लान तैयार किया था। जैसे ही अमित घर से बाहर निकला दोनों ने ईंटों से हमला कर दिया। जिससे अमित की मौके पर ही मौत हो गई।

तेल खत्म होने के कारण बंद हो गई बाइक
आरोपी युवक बुलेट बाइक लिए हुए थे। घटना को अंजाम देने के बाद वापस जाने लगे तो करीब 50 मीटर की दूरी पर ही तेल खत्म होने के कारण बाइक बंद हो गई। उन्होंने बाइक को स्टार्ट करने के लिए हरसंभव प्रयास किए लेकिन बाइक स्टार्ट नही हुई। उसके बाद वे बाइक को साइड में लगाकर फरार हो गए।

प्रेमप्रसंग के चलते की हत्या: थाना प्रभारी
थाना प्रभारी नवीन जाखड़ ने बताया कि पूछताछ के दौरान दोनों आरोपी अमित व अंकित ने बताया कि मृतक युवक अमित का पड़ोस की एक युवती के साथ प्रेम प्रसंग चल रहा था। दोनों आरोपियों को शनिवार को कोर्ट में पेश कर रिमांड पर लिया जाएगा। तीसरे आरोपी काे जल्द गिरफ्तार कर लेंगे।

आरोपियों तक इस तरह पहुंची पुलिस टीम
उप पुलिस अधीक्षक शमशेर सिंह ने बताया कि थाना प्रभारी नवीन जाखड़ व एसआई सुरेश कुमार को जांच सौंपी थी। आसपास के मकानों में लगे सीसीटीवी कैमरों की जांच की तो उसमें दो युवक ईंटों से वार करते व घटना को अंजाम देने के बाद बुलेट पर बैठकर जाते नजर आ रहे थे। घटनास्थल से करीब 50 मीटर की दूरी पर बाइक खड़ी मिली। जिसका रजिस्ट्रेशन भैणी सुरजन के जयवीर के नाम पर था। जयबीर के घर जाकर पूछताछ की तो पता चला अमित घर पर नहीं है। अमित को हिरासत में लेकर पूछताछ की तो उसने अंकित के साथ मिलकर हत्या की बात स्वीकार की। इसके बाद अंकित को गिरफ्तार किया।