केंद्रीय मंत्री नारायण राणे के ‘ईडी नोटिस’ के दावे पर भड़की शिवसेना, बीएमसी ने केंद्रीय मंत्री के बंगले पर चस्पा किया नोटिस

79

मुंबई: 

महाराष्ट्र की राजनीति में बीजेपी और शिवसेना के बीच आरोप-प्रत्यारोप और वार-पलटवार तेज हो गया है.

एक लड़की के दो प्रेमियों की शर्मनाक हरकत, वेलेंटाइन डे पर किया ऐसा काम परेशान हो गई पुलिस

केक काटकर छत्रपति शिवाजी महाराज की जयंती बनाएं चौधरी अमित तवर ने बताया

केंद्रीय मंत्री और बीजेपी नेता नारायण राणे (BJP leader Narayan Rane) के शिवसेना नेताओं को ईडी का नोटिस जारी होने के दावे के बाद सत्तारूढ़ पार्टी ने पलटवार किया है. शिवसेना सांसद संजय राउत(Shiv Sena MP Sanjay Raut) , विनायक राउत और बीएमसी प्रमुख किशोरी पेडनेकर ने शनिवार को प्रेस कान्फ्रेंस कर पलटवार किया. वहीं केंद्रीय मंत्री नारायण राणे के बंगले के निरीक्षण के लिए बीएमसी ने एक नोटिस भी जारी किया है. नारायण राणे ने शुक्रवार को दावा किया था कि बांद्रा में महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे के निजी आवास ‘मातोश्री’ के 4 लोगों के लिए प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) का नोटिस तैयार है. राणे ने ट्वीट कर ये दावा किया और कहा कि लोकसभा सदस्य विनायक राउत के लिए यह खास खबर है. एक बार ऐसा हो गया तो वह और उनके बॉस कहां भागेंग

  • वहीं शिवसेना और बीजेपी के बीच जारी जुबानी जंग के बीच बृहन्मुम्बई महानगरपालिका (बीएमसी) ने जुहू में केंद्रीय मंत्री नारायण राणे के बंगले को निरीक्षण एवं परिसर के मापन के लिए नोटिस जारी किया है. ‘आदिश’ नामक यह बंगला मुम्बई के पश्चिमी सिविक वार्ड में है. गुरुवार को बीएमसी के सहायक अभियंता (भवन एवं फैक्टरी) ने बंगले के मालिक को नोटिस जारी किया. वैसे तो नोटिस पर किसी का नाम नहीं है लेकिन बीएमसी सूत्रों ने कहा कि अवैध निर्माण की शिकायतों के सत्यापन के लिए महानगरपालिका ऐसा नोटिस जारी करती है.

इस नोटिस में कहा गया है कि बीएमसी अधिकारी सहायकों या कर्मियों के साथ 18 फरवरी को या उसके बाद किसी दिन जुहू के सीटीएस नं 997 और 997 ए पर स्थित आदिश बंगाला परिसर में पहुंचेंगे. सूत्रों के अनुसार बीएमसी की एक टीम शुक्रवार शाम को मौके पर गई थी लेकिन बिना किसी कार्रवाई के वह लौट आई क्योंकि राणे परिवार का कोई सदस्य बंगले पर मौजूद नहीं था. शिवसेना सांसद विनायक राउत शनिवार को प्रेस कान्फ्रेंस में कहा,  केंद्रीय मंत्री नारायण राणे ने कल ट्वीट किया और कहा कि मातोश्री के 4 लोगों को ईडी से नोटिस मिलेगा, उसमें मेरे नाम का भी ज़िक्र किया गया.

सुबह नारायण राणे ने एक पत्रकार परिषद भी की. जिस तरह से ट्वीट किया और आज जो पत्रकार परिषद में कहा, उसे देखें तो लगता है कि ‘खोदा पहाड़ निकला कचरा’. सवाल है कि एक केंद्रीय मंत्री ईडी के नाम का दुरुपयोग कर धमकी दे रहा है, क्या यह एक पद का दुरुपयोग नहीं है? ईडी की धमकी वो दे रहे है, इसका मतलब यह है कि या तो ईडी के दस्तावेज़ उन्होंने चुराए हैं या ईडी के अधिकारी उनको कुछ बता रहे हैं, नहीं तो वो ईडी का ज़िक्र कैसे कर सकते हैं? यह बात ही संसद में भी उठाएंगे

नारायण राणे ने अपने पत्रकार परिषद में जो कहा, उसे गंभीरता से लेने की ज़रूरत मुझे नहीं लगती.लगता है कि अपने बच्चों के वजह से उन्हें मानसिक परेशानी हो रही होगी इसलिए वो दूसरों पर आरोप कर रहे हैं.खुद सिंधुदुर्ग में 9 साल तक खून, वसूली, मारा मारी करने का काम इन्होंने किया है.पूरे महाराष्ट्र को पता है कि इसके पीछे सूत्रधार कौन हैविधानपरिषद में नारायण राणे के बारे में देवेंद्र फडणवीस ने उनके कुंडली पढ़ी थी. वो वीडियो हम आपको दिखाते हैं. हम कल गृह मंत्री से मिलकर सिंधुदुर्ग में हुए हत्याओं की जांच कर आरोपी पर कड़ी कार्रवाई की मांग करेंगे. शिवसेना सांसद संजय राउत ने कहा कि नारायण राणे ने किरीट सोमैया को भ्रष्टाचार का पर्दाफाश करने वाला नेता बताया. नारायण राणे पर 300 करोड़ रुपये का भ्रष्टाचार करने का आरोप किरीट सोमैया ने लगाया था.

सुबह नारायण राणे ने कहा कि RTI कार्यकर्ता को उनके खिलाफ मामला उठाने को कहा गया. हकीकत यह है कि उनसे कभी मिला भी नहीं हूं. मुंबई की महापौर किशोरी पेडनेकर ने कहा कि महाराष्ट्र सरकार अच्छा काम कर रही है और यह लोग केवल बदनामी कर रहे हैं. दो दिन पहले संजय राउत ने चुनौती दी थी कि हमें बताओ कि हमने क्या गुनाह किया है. संजय राउत ने कहा, पालघर में किरीट सोमैया के 260 करोड़ का प्रोजेक्ट शुरू है. उनके बेटे के नाम पर यह प्रोजेक्ट है और उनकी ओएटनी इसमें डायरेक्टर है. मैंने पूछा है कि इस 260 करोड़ के इस प्रोजेक्ट में ईडी का एक अधिकारी भी शामिल है, उसने कितने पैसे लगाए हैं यह बताओ.

इनके पास यह करोड़ों रुपये कहां से आ रहे हैं? इसपर जांच होनी चाहिए. ईडी के पास हम लाखों लोग जाएंगे और बताएंगे कि किस तरह से करोड़ों रुपये महाराष्ट्र से लूटे गए. तुम्हारे पास भले ही केंद्र सरकार हो, यहां महाराष्ट्र सरकार है। हमारी मजबूत सरकार है. बीजेपी ने किस तरह महाराष्ट्र और देश को लूटा है, यह सब अब बाहर आएगा. ट्रक में दस्तावेज़ भरकर ईडी के दफ्तर हम जाएंगे. अगले हफ्ते हम ईडी के सबसे बड़े घोटाले को बाहर निकालेंगे.