एडीसी की टीम पर हमले के मामले में ट्रांसपाेर्टर बूटा सिंह व रैकी करने वाला सचिन गिरफ्तार, अब साहा में हंगामा

204

एडीसी कम आरटीए सचिव प्रीति की चेकिंग टीम पर वीरवार रात को हुए जानलेवा हमले के मामले में सीआईए नारायणगढ़ ने ट्रांसपोर्टर बूटा सिंह और गगनहेड़ी के सचिन सैनी को गिरफ्तार कर लिया है। सचिन उस रैकेट से भी जुड़ा है जो अफसरों की रैकी करके वाट्सएप ग्रुप ‘टाइगर जिंदा है’ में सूचना भेजता था। हरियाणा-पंजाब बॉर्डर पर पंजोखरा-हंडेसरा के बीच ट्रांसपोर्टरों व ड्राइवरों ने मिलकर आरटीए टीम पर हमला कर दिया था।

इस मामले में पंजोखरा पुलिस ने बूटा सिंह व सचिन के अलावा जनेतपुर के कुलवंत सिंह, नहोनी के राजीव को नामजद किया है। मामले की गंभीरता को देखते हुए जांच सीआईए नारायणगढ़ को जांच सौंप दी गई। एफआईआर में तीन हैवी व्हीकल्स का जिक्र है। ये गाड़ियां प्रेम कुमार, मुकेश कुमार और हरप्रीत सिंह के नाम पंजीकृत हैं। एडीसी कम आरटीए सचिव प्रीति ने कहा कि 600 ऐसी गाड़ियों की आरसी रद्द करने नोटिस दे दिए हैं जो समय पर टैक्स नहीं चुका रहे। ओवरलोडिंग के खिलाफ यह अभियान जारी रहेगा।

अब ओवरलोड डंपर का 40 हजार का चालान काटने पर हंगामा, जाम लगाने पहुंचे ट्रांसपोर्टर

ओवरलोडिंग पर कसे शिकंजे के बीच शुक्रवार शाम को साहा में हंगामा हो गया। आरटीए सहायक सचिव रूप चंद ने मिट्टी लदे डंपर का ओवरलोडिंग का 40 हजार रुपए के चालान काट दिया। इस पर मौके पर जुटे ट्रांसपोर्टरों ने टीम को घेर लिया और हाईवे जाम कर दिया। बाद में यह आरोप लगाए कि आरटीए की टीम उन्हीं को परेशान कर रही है जो सुविधा शुल्क नहीं दे रहे। आरटीए सहायक सचिव ने कहा कि चालान कटने के बाद दबाव बनाने के लिए ऐसे झूठे आरोप लगते ही हैं।

गुरुवार को हरियाणा-पंजाब बॉर्डर पर एडीसी कम आरटीए सचिव प्रीति के चेकिंग दस्ते पर ओवरलोडिंग माफिया ने हमला कर दिया था। इस में मामले में कई ट्रांसपोर्टरों व चालकों पर जानलेवा हमला करने समेत कई धाराओं में केस दर्ज हुआ है। शुक्रवार को आरटीए टीम जगाधरी रोड पर चेकिंग करने निकली थी। कालपी के पास टीम ने मिट्टी से लदे डंपर को रोका और तौलाई के लिए साहा-शाहाबाद रोड पर लगे धर्मकांटे पर लेकर जाने लगे। धर्मकांटे के पास पहुंचने से पहले ही चालक विनोद कुमार अपने ट्रांसपोर्टर रविंद्र सिंह से फोन पर बात करने लगा।

इस पर टीम ने उसका मोबाइल व गाड़ी की चाबी ले ली। कुछ देर में ही उसे समर्थन में कई ट्रांसपोर्टर पहुंच गए और हंगामा शुरू कर दिया। सभी ट्रांसपोर्टर इकट्ठे होकर साहा चौक पर जाम लगाने पहुंच गए। इसी बीच सूचना पाकर साहा व मुलाना पुलिस पहुंच गई। एक बार तो मामला शांत हो गया। लेकिन बाद में ट्रांसपोर्टर धर्मकांटे के पास जुट गए और एडीसी प्रीति को मौके पर बुलाने की मांग करने लगे। ट्रांसपोर्टर रविंद्र सिंह, विकास, गोल्डी, सतपाल, रमित ने आरोप लगाए कि सिर्फ लोकल गाड़ियों को तंग किया जा रहा है।